ITR फाइल करने की आखिरी डेट बढ़ी, अब 5 अगस्त तक का है मौका…

Business
नई दिल्ली. फाइनेंस मिनिस्ट्री ने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी डेट बढ़ा दी है। आईटी डिपार्टमेंट के अनुसार आईटीआर फाइल करने की आखिरी डेट अब 5 अगस्त हो गई है। अभी तक इसके लिए 31 जुलाई आखिरी दिन था। इस फैसले के बाद जिन लोगों ने अब तक आईटीआर नहीं भरा है, या उससे जुड़े जरूरी डॉक्युमेंट्स इकट्ठा नहीं किए हैं, उन्हें एक हफ्ते का मौका मिल गया है।
– रेवेन्यू सेक्रेटरी हसमुख अढिया ने कहा है, ’29 जुलाई को पीएसयू बैंकों की हड़ताल और जम्मू एंड कश्मीर में पिछले दिनों अशांति के माहौल को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।’
– अढिया के अनुसार अब आईटीआर फाइल करने के लिए पूरे देश के टैक्सपेयर को 5 अगस्त तक का मौका मिलेगा।
किसे भरना होता है आईटीआर?
– आम तौर पर जिनकी सालाना आय 2.5 लाख रुपए से अधिक होती है, उन्हें इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करना जरूरी है।
– जिनकी इनकम इससे कम होती है, उन्हें इनकम टैक्‍स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करना जरूरी नहीं है। हालांकि इसके बावजूद आईटीआर फाइल करना चाहिए। इससे बैंक लोन, वीजा सहित दूसरे जरूरी काम करना आसान हो जाता है।
आईटीआर फाइल करना है आसान
– ऑनलाइन इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना काफी आसान है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की रिटर्न फाइल करने के लिए अलग से एक वेबसाइट है।
– इस वेबसाइट पर डिपार्टमेंट ने कई कैलकुलेटर भी दिए हुए हैं, जिनकी मदद से टैक्स कैलकुलेशन आसानी से हो जाता है।
– इसके अलावा आप फॉर्म 26 एएस की मदद से अपना टीडीएस अमाउंट देख सकते हैं। रिटर्न भरने के लिए आपको एक प्रॉसेस फॉलो करना होगा।
आईटीआर फाइल करने का ये है प्रॉसेस
– सबसे पहले आप http://incometaxindiaefiling.gov.in/ पर लॉग-इन करें। इसके बाद स्क्रीन पर राइट हैंड साइड पर बने ‘क्विक फाइल करें जहां पर आप अपनी कैटेगरी के अनुसार आईटीआर फॉर्म सेलेक्ट कर रिटर्न फाइल कर सकते हैं।
– इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आपसे रिटर्न फाइल करने के लिए यूजर नेम और पासवर्ड मांगा जाएगा। यूजर नेम में आपको अपना पैन नंबर देना होगा।
– अगर आपने पहले से रजिस्ट्रेशन नहीं किया है तो उसको आप यहां पर कर सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले कैटेगिरी सलेक्ट करनी होगी। कैटेगिरी में आप खुद/एचयूएफ, कंपनी, सीए एक्सटर्नल एजेंसी के तौर पर रजिस्टर्ड कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपना सरनेम, पैन नंबर, पहला नाम और जन्म तिथि देना होगा।
– रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको फिर से आईटीआर फाइल करने के लिए जाना होगा। यहां आपको सारी डिटेल्स खुद भरनी होगी। इसके लिए आप अपने फॉर्म 16 और फॉर्म 26एएस की मदद ले सकते हैं।
– डिटेल्स भरने के बाद सबमिट करना होगा और आपका रिटर्न फाइल हो जाएगा। इसके बाद एक एक्नॉलेजमेंट फॉर्म आएगा, जिसे आप आधार कार्ड, नेटबैंकिंग या फिर एसबीआई के एटीएम से ई-वैरिफाई कर सकते हैं। इससे आपको यह फॉर्म सीपीसी बेंगलुरू नहीं भेजना होगा।
टीडीएस क्लेम करने के लिए ये करें
– अगर, आपकी किसी भी सोर्स से हुई इनकम पर टीडीएस काटा गया है तो इसे क्‍लेम करने का इकलौता जरिया है आईटीआर।
– बैंक ने आपके डिपॉजिट पर मिलने वाले इंटरेस्ट (10,000 रुपए से अधिक) पर टीडीएस काटा हो या रेंटल इनकम पर टीडीएस काटा हो, इसे हासिल करने के लिए आपको इनकम टैक्‍स फाइल करना होगा। इनकम टैक्‍स फाइल कर आप टीडीएस कटौती को क्‍लेम कर अपना पैसा वापस ले सकते हैं।

Leave a Reply