प्रेमी ने पति के सीने में 7वीं बार चाकू घोंपा तो पत्नी बोली-‘बस! अब मत मारो’

National
सूरत। शहर के पॉश इलाके सर्जन सोसाइटी में स्थित बंगले में 27 जून की रात हुए बिजनेसमैन दिशीत के मर्डर मामले में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी दिशीत की पत्नी वेल्सी सहित प्रेमी व उसके ड्राइवर को भी अरेस्ट कर लिया है। फिलहाल सभी रिमांड पर हैं, इसलिए रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं।आखिरी समय बोली थी पत्नी- ‘अब मत मारो’…
वेल्सी के प्रेमी सुकेतु मोदी और उसके ड्राइवर ने पुलिस को बताया कि दिशीत के सीने में पहला चाकू ड्राइवर ने घोंपा था। इसके बाद जब दिशीत दर्द से चीखने लगा तो सुकेतु ने एक के बाद एक उसके सीने में सात पर चाकू घोंपे। यह सबकुछ दिशीत की पत्नी वेल्सी अपनी आंखों से देख रही थी। जब सुकेतु ने दिशीत के सीने में सातवीं पर चाकू घोंपा तो वेल्सी ने कहा था.. ‘बस, अब मत मारो’। इतना कहने के बाद वेल्सी बेटी को लेकर बाथरूम में चली गई थी। इसके बाद सुकेतु ने चाकू से दिशीत का गला रेत दिया था।
मामा का बेटा था सुकेतु
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, वेल्सी और दिशीत की शादी करीब तीन साल पहले हुई थी। इनकी एक बेटी भी है। लेकिन वेल्सी का मामा के बेटे सुकेतु मोदी (26) से ही कई सालों से अफेयर चल रहा था। सुकेतु भी शादीशुदा है। वेल्सी और सुकेतु दोनों ही अपनी शादीशुदा लाइफ से खुश नहीं थे। इसी के चलते इन्होंने दिशीत को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया था।

एक महीने से बन रहा था मर्डर का प्लान
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि दिशीत के मर्डर का प्लान वेल्सी और सुकेतु ने एक महीने पहले से ही बना रखा था। कई बार इसकी कोशिश भी की गई, लेकिन दिशीत के माता-पिता के घर पर रहने के चलते यह मुमकिन नहीं हो पा रहा था। सोमवार सुबह ही दिशीत के माता-पिता मॉरिशस घूमने निकले थे। इसीलिए सोमवार की रात ही वेल्सी और सुकेतु को दिशीत के मर्डर का मौका मिल गया।

शादी करने के बाद मुंबई में रहने का प्लान था
सुकेतु और वेल्सी ने पुलिस को यह भी बताया कि वे दोनों शादी करना चाहते थे। उन्हें लगा था कि वे पकड़े नहीं जाएंगे और यह लूट और मर्डर की ही वारदात बनकर रह जाएगी। हालांकि, ऐसा हो नहीं सका। दिशीत के मर्डर के बाद सुकेतु और वेल्सी के मुंबई शिफ्ट होने का प्लान था।

पुलिस को वेल्सी पर इसलिए था शक
– बंगला सोसाइटी के काफी अंदर था तो लुटेरों ने इसी बंगले को ही लूटपाट के लिए क्यों चुना?
– लुटेरों ने सिर्फ वेल्सी के ही गहने क्यों उतारे, जबकि दिशीत के गले में सोने की चेन और उंगली में सोने की अंगूठी भी थी।
– लुटेरे अगर लूटपाट के ही इरादे से आए थे तो घर के लॉकर में रखे कीमती सामान क्यों नहीं लूटा।
– सिर्फ लूटपाट ही करनी थी तो दिशीत का इतनी बेरहमी से मर्डर क्यों किया गया। सीने में आठ बार चाकू घोंपने के बाद उसका गला भी रेता गया।
वेल्सी द्वारा पुलिस को सुनाई गई कहानी
– इस मामले में पुलिस को शुरुआत से ही वेल्सी द्वारा सुनाई गई कहानी हजम नहीं हो रही थी।
– वेल्सी ने पुलिस को बताया कि रात के करीब 12 बजे डोर बेल बजी। दिशीत ने दरवाजा खोला।
– सामने दो व्यक्ति थे, जो दिशीत को धक्का देकर घर में दाखिल हो गए। दोनों के हाथों में बड़े चाकू थे।
– लुटेरों ने मेरे गहने उतारे और मुझे बेटी के साथ बेडरूम के बाथरूम में बंद कर दिया। इसके बाद दिशीत का मर्डर कर दिया।
– मैंने (वेल्सी) किसी तरह बाथरूम की खिड़की का कांच तोड़ा और मदद के लिए आवाज लगाई। तब पड़ोसी यहां आए और हमें बाथरूम से बाहर निकाला।

दिशीत गहरी नींद में था, तभी उसका मर्डर हुआ
दरअसल, वेल्सी द्वारा पुलिस को सुनाई गई पूरी कहानी झूठी थी। वेल्सी रात को बेटी और दिशीत के सोने का इंतजार कर रही थी। रात के करीब साढ़े बारह बजे वेल्सी ने ही दरवाजा खोला और आरोपी बेडरूम में दाखिल हुए। इसके बाद प्लान के अनुसार, वेल्सी ने दबे पांव बेटी को उठाया और बाथरूम में चली गई। आरोपियों ने बाथरूम का गेट बाहर से बंद कर दिया और इसके बाद नींद में ही दिशीत की निर्मम हत्या कर उसी की कार से फरार भी हो गए।

डॉग स्क्वॉड और एफएसएल की भी ली गई थी मदद
– आरोपियों को पकड़ने के लिए डॉग स्क्वॉड और एफएसएल की मदद भी ली गई थी।
– पुलिस आसपास के बंगलों में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की थी, जिसमें लुटेरे नजर आए। हालांकि, इनका चेहरा क्लीयर नहीं दिख पाया था।
– लुटेरे जिस ऑटो से यहां पहुंचे थे, पुलिस ने उसे बुधवार को ही अरेस्ट कर लिया था। ऑटो चालक ने आरोपियों का हुलिया पुलिस को बता दिया था। ऑटो चालक को अरेस्ट करने की बात पुलिस ने दबा रखी थी, जिससे आरोपी सतर्क न हो जाएं।
– लूम कारखाने के मालिक दिशीत का फाइनेंस और प्रॉपर्टी डीलिंग का भी बिजनेस था। शहर में उनका काफी नाम था। इसलिए इस मर्डर केस ने पुलिस की नींद उड़ा दी थी।

Leave a Reply