इस जलपरी को लोगों ने माना गंगा का अवतार, बनने जा रही थी फिल्‍म, लेकिन..

Sangam

लखनऊ.कानपुर से वाराणसी तक गंगा में 570 किमी तैरकर रिकॉर्ड बनाने का दावा करने वाली कानपुर की रहने वाली जलपरी श्रद्धा शुक्ला के कैंपेन पर एक फिल्‍ममेकर ने बड़ा खुलासा किया है। dainikbhaskar.com से फिल्‍ममेकर विनोद कापरी ने बातचीत में बताया कि श्रद्धा का हर दिन 80 से 100 किमी तैरने का दावा फर्जी है। इसके लिए उन्‍होंने बकायदा फोटो और वीडियो भी सोशल मीडिया पर शेयर किया है। वहीं, इस खुलासे के बाद श्रद्धा के पिता ने कापरी के खिलाफ काेर्ट में जाने का एलान किया है। उनका कहना है कि पैसे के लालच में कापरी ने ऐसा किया है। मुंबई से यूपी आए थे फिल्‍मबनाने, जलपरी की असलियत देख हो गए हैरान… – विनोद कापरी ने बताया कि वह जलपरी श्रद्धा पर मुंबई से मूवी बनाने आए थे। – वो चाहते थे कि 12 साल की श्रद्धा को बड़े पर्दे पर लोग देखें और इस प्रतिभा को एक इंटरनेशनल पहचान मिले।  – वो जलपरी की ट्रेनिंग के लिए उसका खर्चा उठाने को भी तैयार थे, लेकिन जब वो मूवी शूट करने के लिए जलपरी के साथ चले तो कैंपेन की असलियत जानकर हैरान रह गए।  – बतौर विनोद कापरी, श्रद्धा केवल दो से तीन किमी ही हर दिन तैरती थीं। उनका रोज 80 से 100 किमी तक तैरने का दावा झूठा है।   गोताखोरों ने कहा- घाट या भीड़ दिखने पर पानी में उतरती है जलपरी – कापरी ने श्रद्धा के साथ तैराकी करने वाले गोताखोरों और नौका दल के सदस्‍यों का भी इंटरव्यू लिया।  – इसमें उनसे नौकादल प्रमुख मान सिंह पासवान, गोताखोर पिंटू निषाद और राम मिलन निषाद ने कई खुलासे किए।  – इन लोगों ने कापरी से बताया कि जलपरी घाट आने के 500 मीटर पहले पानी में उतरती है।  – इसके अलावा वह भीड़ दिखने पर ही तैरना शुरू कर देती है। बाकी पूरा समय नाव पर ही बिताती है। कापरी बोले- बच्‍ची को पिता कर रहे इस्‍तेमाल – कापरी ने बताया कि गोताखोरों की टीम से पता चला कि श्रद्धा केवल अपने पिता ललित शुक्‍ला के इशारे पर तैर रही है।  – ललित यह सब केवल पैसे के लिए कर रहे हैं। इन सब बातों से बच्‍ची अनजान है।  – इसमें बच्‍ची का कोई दोष नहीं है, लेकिन पिता द्वारा बच्‍ची का शोषण करना गलत है। जलपरी के पिता कर रहे देश को गुमराह – कापरी के मुताबिक, जब वो शूट कर रहे थे तो उन्‍हें श्रद्धा की असलियत जानकर काफी ठेस पहुंची।  – इसके अलावा जब घाट पर सैकड़ों लोग उसका इंतजार करते और गंगा मां का अवतार मानकर पैर छूते या आरती उतारते तो काफी दुख होता था।  – इस तरह लोगों की भावनाओ और विश्‍वास से खिलवाड़ बर्दाश्‍त नहीं हुआ, जिसके बाद मजबूर होकर इसका खुलासा करना पड़ा। पिता कहते हैं- पानी में मगरमच्‍छ है, वापस नाव पर आओ – शूटिंग के दौरान कापरी के साथ काम करने वाले असिस्‍टेंट डायरेक्‍टर मानव यादव ने भी जलपरी पर खुलासा किया।  – मानव की मानें तो जब श्रद्धा घाट से कुछ दूर तैरकर निकल आती थी, तो उसके पिता कहते थे कि पानी में बहुत मगरमच्‍छ हैं वापस आ जाओ।  – वे इसी तरह अन्‍य जीवों का खतरा बताकर श्रद्धा को वापस नाव पर बुला लेते थे।  – इसके बाद घाट आने पर जलपरी फिर से पानी में उतर जाती थी।  – यह देखकर इलाहाबाद के आगे शूटिंग बंद करने का फैसला लिया गया। बाल आयोग ने लिया मामले का संज्ञान – यूपी बाल संरक्षण आयोग की सदस्‍य नाहिदा लारी खान ने बताया कि इस मामले पर डीएम कानपुर को जांच करने का आदेश जारी किया गया है।  – डीएम जांच करके पूरी रिपोर्ट आयोग को सौंपेंगे।  – विनोद कापरी ने जिस तरह से पूरे मामले को मीडिया के सामने रखा, वह तरीका गलत है।  – उन्‍हें पहले मामले को बाल आयोग या बच्‍चों के अधिकारों के लिए काम करने वाली जिम्‍मेदार संस्‍था के सामने इसे रखना चाहिए था।  – इस तरह खुलासे से श्रद्धा के दिमाग पर गलत असर पड़ेगा। अगर उसके पिता के द्वारा गलत तरीके से उसका इस्‍तेमाल किया जाना साबित होता है तो कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply