UP में भी कई ‘रूबी’, 5 आसान सवालों के भी जवाब न दे सके 27 टॉपर

UP Board
लखनऊ. बिहार शिक्षा घोटाले की तर्ज पर यूपी पॉलिटेक्निक एग्‍जाम में भी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी सामने आई है। हाल ही में जारी पॉलिटेक्निक एंट्रेंस एग्जाम के 28 संदि‍ग्‍ध मेधावियों का रि‍जल्‍ट कैंसि‍ल कर दिया गया है। इनमें से 27 टॉपर थे जबकि‍ एक का रैंक 440 था। इन सभी से जांच टीम ने मंगलवार को 8 की स्‍पेलिंंग लि‍खने जैसे साधारण प्रश्‍न पूछा, लेकि‍न एक भी कैंडि‍डेट ने इनका सही जवाब नहीं दि‍या। आगे की स्लाइड्स में इन्फो में देखिए कैंडि‍डेट्स ने क्या दिए जवाब…
कब हुई थी परीक्षा कि‍तने स्‍टूडेंट हुए पास
– 11 जनवरी से 16 फ़रवरी तक ऑनलाइन आवेदन मांगे गए।
– 1 मई को यूपी के 1172 सेंटर पर दो शिफ्ट में परीक्षा आयोजित की गई। यह परीक्षा 1 लाख 22 हज़ार सीटों के लिए हुई।
– इसके लिए 5 लाख 31 हजार 131 कैंडिडेट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया और 4 लाख 70 हज़ार कैंडिडेट्स ने परीक्षा दी।
– 10 जून को रिजल्ट जारी हुआ और 3 लाख 50 हज़ार 71 कैंडिडेट्स ने परीक्षा पास की।
– इसके बाद काउंसि‍लिंग और डॉक्‍यूमेंट वेरीफि‍केशन के बाद 1 लाख 22 हज़ार सीटों पर एडमि‍शन होना था।
अधि‍कारि‍यों को मि‍ली धांधली की सूचना
– बोर्ड के अधिकारियों को सूचना मिली कि राजधानी के बुद्धं शरणम् इंटर कॉलेज के कमरा नंबर 23 में स्टूडेंट्स ने नक़ल की है।
– इसकी जांच के लि‍ए 11 जून को 4 सदस्यीय कमिटी बनाई। इसमें ज्‍वाइंट डायरेक्टर मनोज कुमार, राजकीय महिला पॉलिटेक्निक के प्रिंसिपल अशरफ अली, राजकीय पॉलिटेक्निक लखनऊ के कंप्यूटर सहायकों के अध्यक्ष अशोक कुशवाहा और बोर्ड के उपसचिव महेश यादव शामिल रहे।
– इसके बाद उस सेंटर के कमरा नंबर 23 के 28 संदिग्ध कैंडिडेट्स की ओएमआर शीट का मिलान किया गया और इन सबके लिए एक प्रश्नोत्तरी बनाई गई।
– जांच टीम के सामने आए संदिग्ध स्टूडेंट्स में से कोई भी सही जवाब नहीं दे पाया।
नकलचियों में 3 लड़कियां भी शामिल, टॉप टेन के 6 टॉपर्स पर बैन

– सचिव एफआर खान ने बताया कि परीक्षा से डीबार (बाहर) किए गए 28 में से 6 कैंडिडेट्स टॉप टेन में शामिल थे।
– इनमें शामिल मेधावियों में 3 लड़कियां भी शामिल हैं।
– इनमें पारुल यादव रैंक 9, अमृता रैंक 11 और कनकलता रैंक 39 भी शामिल थीं।
– इन सबका रिजल्ट कैंसि‍ल कर दिया गया है।
क्‍या हुआ एक्‍शन
– सेंटर बुद्धं शरणम् इंटर कॉलेज को ब्लैकलिस्ट किया गया।
– प्रिंसिपल पारस सिंह पर एफआईआर दर्ज कराई गई।
– 28 स्टूडेंट्स का रिजल्ट कैंसि‍ल कर दि‍या गया। जांच जारी है।
क्‍या कहते हैं अधि‍कारी
– यूपी पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा के सचिव एफआर खान ने बताया कि 10 जून को पॉलिटेक्निक एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट जारी किया गया था।
– रिजल्ट में गड़बड़ी की आशंका पर ज्‍वाइंट डायरेक्टर मनोज कुमार की अध्यक्षता में 4 मेंबर की एक कमिटी को जांच करने को कहा था।
– सभी कैंडिडेट्स के एक ही सेंटर बुद्धं शरणं इंटर कॉलेज में एग्जाम देने की बात सामने आई है।
– कैंडिडेट की ओएमआर शीट एक ही हैंडराइटिंग से भरी पाई गई थी।
इससे पहले पीसीएस परीक्षा में गड़बड़ी आई थी सामने
– इससे पहले यूपी पीसीएस परीक्षा में भी यादवों के ज्यादा सिलेक्शन की बात सामने आई थी।
– उस मामले में तत्कालीन यूपीपीएससी चेयरमैन अनिल यादव की कुर्सी चली गई थी।
ये हैं पॉलिटेक्निक परीक्षा के दागी, इनमें 3 लड़कियां भी शामि‍ल हैं…
रैंक कैंडिडेट
3 अभिषेक कुमार बिंद
5 अंकित वर्मा
7 महेंद्र सिंह यादव
8 अभुति राय
9 पारुल यादव
10 हरिनंद यादव
11 अमृता
12 कल्पनाथ यादव
15 नैयर समदानी
16 संदीप मौर्य
19 सत्येन्द्र यादव
21 यश वंद यादव
24 विवेक सिंह यादव
25 अभिषेक यादव
26 ऋतुराज यादव
27 शाहूवाल खान
29 विशाल यादव
30 जितेश कुमार राय
32 अजय यादव
37 आयुष सिंह
38 शुभम गुप्ता
39 कनकलता
45 देवेन्द्र यादव
47 सहजर रजा
52 विपुल सिंह यादव
88 पंकज यादव
440 प्रदीप कुशवाहा

Leave a Reply