उड़ी हमला: देशभर में गुस्सा, शहीदों के घर से सड़क तक एक ही आवाज- मोदीजी! इस बार बयान नहीं, बदला चाहिए

Delhi
नई दिल्ली.उड़ी आर्मी बेस पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी हमले में 18 जवानों की शहादत के बाद देशभर में गुस्सा है। शहीदाें के परिवार वालों से लेकर नेता, सेलिब्रिटीज और सोशल मीडिया पर मौजूद यूथ तक इस बार सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई चाहता है। सरकार के स्तर पर सोमवार को दिनभर बैठकों का दौर चला। लेकिन सामने यही बात आई कि पाकिस्तान को हर इंटरनेशनल लेवल पर अलग-थलग किया जाएगा। आर्मी ने जरूर कहा कि हम अपने हिसाब से जगह और वक्त तय कर जवाब देंगे। वहीं, शहीदों के परिवार के लोग कह रहे हैं कि अब देश को बयान नहीं चाहिए। शहादत का बदला चाहिए। पढ़ें किस कदर है गुस्सा…
1# शहीदों के परिवारों में किस कदर है गुस्सा?
– बिहार के रहने वाले सिपाही अशोक सिंह उड़ी हमले में आतंकियों से मुकाबला करते वक्त शहीद हाे गए। उनके परिवार को कल शाम खबर मिली। अशोक सिंह की पत्नी संगीता सिंह कहती हैं, ”हमको और कुछ नहीं चाहिए। मेरे पति और 17 जवानों की शहादत का बदला चाहिए। पाकिस्तान बार-बार वार करता है, उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर मारो।’’
– बिहार के गया के रहने वाले नायक एसके विद्यार्थी भी उड़ी हमले में शहीद हो गए। उनकी 13 साल की बेटी आरती कुमार कहती हैं, ”मोदीजी! पाकिस्तान को ईंट का जवाब पत्थर से दो।”
– बंगाल के रहने वाले सिपाही जी. दलाई की शहादत के बाद उनकी मां ने कहा, ”बेटे ने मुझे गुरुवार को फोन किया। उसने कहा कि वहां बमबारी हो रही है और कभी भी जान जा सकती है। जिन्होंने मेरे बेटे की जान ली है, उन्हें सख्त सजा मिलनी चाहिए।’’
– शहीद दलाई के पिता कहते हैं, ”मेरा बेटा महज 22 साल का था। सरकार को मेरे बेटे के हत्यारों के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए।”
– नासिक के रहने वाले सिपाही टी. संदीप सोमनाथ उड़ी हमले में शहीद हो गए। उनके परिवार के लोगों ने कहा कि बेटे की शहादत पर हमें गर्व है। लेकिन पाकिस्तान पर कार्रवाई होनी चाहिए।
– 42 साल के हवलदार रवि पॉल 10 डोगरा रेजीमेंट में थे। उनकी शहादत पर 10 साल का बेटा वंश कहता है, ‘‘मैं आर्मी में डॉक्टर बनूंगा। इसी तरह पिताजी की जान लेने वालों से बदला लूंगा।’’
– यूपी के रहने वाले सिपाही राकेश सिंह के भाई कहते हैं कि देश के लिए कुर्बान हो गया तो कोई अफसोस की बात नहीं है। लेकिन इस बार दोषी छूटने नहीं चाहिए।
2# सरकार और आर्मी क्या करेगी?
– दिल्ली में हाईलेवल मीटिंग का दौर चला। पहली मीटिंग राजनाथ सिंह ने आला अफसरों के साथ ली। इसके बाद राजनाथ, कई मंत्री और अफसरों ने नरेंद्र मोदी के साथ मीटिंग की। भारत ने अपना रुख साफ करते हुए कहा है कि पाकिस्तान को इंटरनेशनल लेवल पर अलग-थलग कर दिया जाएगा। शाम को मोदी प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी से भी मिलने गए।
– आर्मी ने कहा- हम अपने हिसाब से देंगे जवाब, जगह और वक्त चुनने की आजादी भी अब हमारे ही पास है।
3# सेलेब्स क्या चाहते हैं?
– विराट कोहली ने हमले की एक फोटो ट्वीट कर लिखा कि मैं अपने जज्बात बयां नहीं कर सकता। सभी जांबाजों को जय हिंद।
– अमिताभ बच्चन ने भी कहा कि सरकार को तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए।
– बाबा रामदेव ने कहा कि मुंहतोड़ जवाब देने से कुछ नहीं होगा। अब हमें इन सब आतंकियों का मुंह ही तोड़ देना चाहिए।
– अक्षय कुमार ने कहा- जांबाजों को सलाम। आतंकवाद को रोका जाना चाहिए। बस हो गया। इनफ इज इनफ। जय हिंद।
– अजय देवगन ने कहा कि ये बात 17 शहीदों के परिवारों की नहीं है। ये एक परिवार – इंडिया की है। इनफ इज इफ।
– क्रिकेटर गौतम गंभीर ने ट्वीट किया कि हमारे नेता न तो देश के अंदर मौजूद मच्छरों को कंट्रोल कर पाते हैं न बाॅर्डर पार से आने वाले मच्छरों को। दयनीय स्थिति है।
4# नेता क्या कहते हैं?
– हमले के बाद रविवार को मोदी ने कहा था, “मैं इस देश के लोगों को भरोसा दिलाता हूं कि हमले के पीछे जो भी लोग हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।”
– शिवसेना ने अपने माउथपीस सामना में लिखा कि सरकार को ये मानना होगा कि मौजूदा हालात कांग्रेस की सरकार के दौर से भी खराब हैं।
– कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चह्वाण ने कहा कि आतंकियों को कैम्प के बारे में काफी जानकारी थी। इससे कई सवाल उठते हैं। लेकिन सिर्फ ट्वीट्स और बयानबाजी हो रही है।
– बीजेपी नेता राम माधव ने कहा- ”पीएम ने वादा किया है कि उड़ी आतंकी हमले के पीछे जो भी लोग हैं, वे सजा से नहीं बच पाएंगे। यह अगला रास्ता होना चाहिए। एक दांत के लिए पूरा जबड़ा।”

Leave a Reply