मीटिंग में बीजेपी का 7S फॉर्मूला, जेटली ने कहा- जहां थे कमजोर, वहां हुए मजबूत

Uncategorized
इलाहाबाद. सोमवार को नरेंद्र मोदी यहां के चंद्रशेखर पार्क पहुंचे। उन्होंने चंद्रशेखर आजाद को श्रद्धांजलि दी। नरेंद्र मोदी बीजेपी की नेशनल एग्‍जीक्‍यूटिव मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए इलाहाबाद में हैं। देर शाम वो यहां एक रैली को भी ऐड्रेस करेंगे। इलाहाबाद में चल रही इस मीटिंग को अगले साल होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव से पहले बेहद अहम माना जा रहा है। पार्टी अक्टूबर-नवंबर तक सीएम कैंडिडेट का नाम फाइनल कर सकती है। इसके लिए दो तरह के ऑप्शन पर विचार किया जा रहा है। आज सुबह कई बड़े बीजेपी नेता संगम में डुबकी लगाने भी पहुंचे। अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में क्‍या कहा…?
देश की पॉलिटिक्‍स में बीजेपी ने खुद को स्‍थापित किया है। मोदी सरकार के दो सफल साल पूरे हुए हैं।”
– ”एग्‍जीक्‍यूटिव का 2 मुख्‍य उद्देश्‍य था- मौजूदा राजनीतिक सिचुएशन पर विश्‍लेषण और पार्टी को आगे बढ़ाना।”
– ”पंजाब, केरल जैसे राज्‍यों में हमारा वोट बढ़ा, असम में हमने सरकार बनाई है। पार्टी जहां कमजोर थी, वहां मजबूत हो रही है।”
– ”कांग्रेस अौर बीजेपी की लोकप्रियता में भारी अंतर आया है। मोदी की लोकप्रियता अब भी कायम है।”
– ”सभी कार्यालय मुख्‍यालय से जुड़ रहे हैं। हम चाहते हैं कि हर जिले में बीजेपी का कार्यालय बने।”
– ”दुनिया हमें फास्‍टेस्‍ट वर्ल्‍ड इकोनॉमी मानती है। हम आने वाले दशकों में देश को और मजबूत करेंगे।”
– ”हम चाहते हैं कि आचरण और नीति में सेवा भाव, संतुलन, संयम, समन्‍वय, सकारात्‍मक, सद्भावना, संवाद का असर दिखे।”
यूपी में ‘मिशन 265’ के लिए दो ऑप्शन पर सोच रही है बीजेपी…
– यूपी में ‘मिशन 265’ के साथ रविवार को रविवार को मीटिंग शुरू हुई।
– सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री पद के कैंडिडेट के नाम का एलान अक्टूबर या नवंबर तक हो सकता है।
– इसके लिए पार्टी का चेहरा बनने के छह प्रमुख दावेदार सामने आए हैं। ये हैं- राजनाथ सिंह, डॉक्टर महेश शर्मा, स्मृति ईरानी, वरुण गांधी, रामशंकर कठेरिया और प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य।
– इनमें से एक नाम फाइनल करने के लिए दो ऑप्शन्स पर विचार कर रही है।
– पहला ऑप्शन-सीएम पद का कैंडिडेट तय करने के लिए इंटरनल सर्वे कराया जाए। इनमें सभी छह दावेदारों के नाम पर पार्टी कैडर की राय ली जाए। जो जीते उसके नाम का एलान कर दिया जाए।
– दूसरा ऑप्शन-सर्वे में कोई साफ राय सामने नहीं आने पर सभी छह दावेदारों को राज्य के छह अलग-अलग क्षेत्रों की जिम्मेदारी दे दी जाएगी। जिसके इलाके से अधिक सीटें आएंगी, पार्टी का बहुमत आने पर वही सीएम होगा।
शाह करेंगे सांसदों से मुलाकात
– दूसरे दिन की शुरुआत अमित शाह यहां के 71 सांसदों ये मुलाकात कर करेंगे।
– बता दें, रविवार को हुई मीटिंग में 5 राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के गेम प्‍लान को लेकर चर्चा हुई थी। लेकिन मीटिंग में मेन फोकस यूपी को लेकर ही है।
– मोदी ने यूपी को ध्‍यान में रखते हुए ही बीजेपी सरकार के दो सालों के जश्‍न की शुरुआत सहारनपुर से की थी।
– साथ ही, नोएडा में ‘स्‍टैंडअप इंडिया’ और बलिया में ‘उज्‍ज्वला’ योजना की शुरुआत की थी।
– आज वह पार्टी के नेताओं से नई पॉलिटिकल सिचुएशन पर बात करेंगे।
सीएम कैंडिडेट का नाम अनाउंस करना जरूरी?
– बीजेपी को यह भी देखना होगा कि यूपी में मोदी मैजिक काम करेगा या नहीं।
– साथ ही, बिहार में हारने के बाद सीएम पद के लिए यूपी में चेहरा अनाउंस किया जाएगा कि नहीं।
– असम में भी बीजेपी तब जीती थी, जब पार्टी ने सर्बानंद सोनोवाल को सीएम कैंडिडेट के रूप में आगे किया था।
– हालांकि, यूपी में होने वाली जातिगत राजनीति को देखते हुए सीएम पद के चेहरे को अनाउंस करना आसान नहीं होगा।
ऐसी है बीजेपी की पॉलिटिक्‍स
– बता दें, यूपी में बीजेपी के पास पिछड़ा, दलित या सवर्ण जाति के रूप में कोई बड़ा चेहरा नहीं है।
– राजनाथ सिंह ने पहले ही सीएम कैंडिडेट बनने के ऑफर को ठुकरा दिया है।
– फिलहाल, वरुण गांधी और स्‍मृति ईरानी के नाम की चर्चा है।
– बीजेपी सपोर्टर्स ने भी कई जगहों पर वरुण गांधी के पोस्‍टर्स लगाए है, जिन्‍हें सीएम बनाने की मांग की जा रही है।
– हालांकि, बीजेपी नेशनल सेक्रेटरी सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि होर्डिंग्‍स और पोस्‍टर्स किसी की पॉपुलैरिटी का पैमाना नहीं हैं।
अमित शाह ने उठाया था कैराना मुद्दा
– रविवार को सम्‍मेलन में बोलते हुए अमित शाह ने कैराना मुद्दे को उठाया था।
– उन्होंने आरोप लगाया कि कैराना में हिंदुओं को पलायन करने के लिए फोर्स किया जा रहा है।
– इसके बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अमित शाह ने कैराना मुद्दे पर चिंता जताई है।
– वहां हो रही घटनाएं चिंताजनक है। इस दौरान उन्‍होंने बीजेपी के राजनीति में धुव्रीकरण करने के आरोपों को खारिज कर दिया था।

Leave a Reply