मंडप से दुल्हन हुई गायब, फिर बरात की हुई पिटाई और दूल्हा पहुंचा थाने

National
उज्जैन/इंदौर.देवास से बारात लेकर आए दूल्हे और परिवार वालों के पैरों तले उस समय जमीन खिसक गई जब लड़की ने ऐन वक्त पर शादी से इंकार कर दिया। उसके बाद लड़की के भाई ने बरात की धुनाई कर दी। बरातियों ने थाने में जाकर जान बचाई। क्या है मामला…
-शादी के लिए सजधज कर दूल्हा मंडप के बजाए थाने पहुंच गया।
-वहां आवेदन देकर शादी में खर्च हुए रुपयों को दिलाने की मांग की।
-देवास के वासुदेवपुरा जबरन कॉलोनी रामचंद्र के बेटे शंकर की शादी कंचनपुरा के बलदेव की बेटी पूजा से तय हुई थी।
जान से मार डालने की धमकी देते हुए मारपीट भी की
-शुक्रवार को चिंतामण गणेश मंदिर में शादी थी। दूल्हा बारात लेकर मंदिर पहुंच गया।
-वहां वधू पक्ष को नदारद देख शंकर के भाई ने बलदेव को फोन लगाया।
-फोन नहीं उठा तो वे सीधे घर पहुंच गए।
-दूल्हे शंकर ने बताया कि पूजा और उसके परिवार वालों ने शादी करने से मना कर दिया।
-पूजा के भाई मिथुन ने जान से मार डालने की धमकी देते हुए मारपीट भी की।
-हंगामा देख मोहल्ले के लोग भी जुट गए। उसने बताया कि किसी तरह से जान बचाकर भागे।
-शादी नहीं करने की कोई वजह भी नहीं बताई।
वधूपक्ष ने दिन में ही थाने में दे दिया था आवेदन
-माधवनगर टीआई एमएस परमार ने बताया कि पूजा की मां शोभा देवी ने दिन में अावेदन देकर शादी रुकवाने की मांग की है।
-उसका आरोप है कि शंकर की मां जबरन शादी कराना चाहती है। उसने बताया कि शादी दो साल से तय थी, लेकिन शंकर का चाल चलन ठीक नहीं था।
-कोई अपराध नहीं बनता। मामला पारिवारिक है। इसलिए इसे फैमिली कोर्ट से निपटाना चाहिए।

Leave a Reply