J&K में 26 साल में पहली बार किसी आर्मी बेस पर बड़ा हमला: 17 जवान शहीद, 4 आतंकी ढेर; मोदी बोले- हमलावरों को बख्शेंगे नहीं

Kashmir
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में आर्मी ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर रविवार सुबह आतंकियों ने हमला किया। लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) के नजदीक उरी सेक्टर में मौजूद आर्मी हेडक्वार्टर में आतंकी घुसे। कुछ बैरक में आग लगा दी। आर्मी के नॉर्दन कमांड के मुताबिक,17 जवान शहीद हो गए। वहीं, 19 जवान जख्मी हो गए हैं। सिक्युरिटी फोर्सेज ने तुरंत एक्शन लेते हुए हालात संभालने के लिए पैराकमांडो की टीम को मौके पर एयरड्रॉप किया। ऑपरेशन में 4 आतंकी मार गिराया। राजनाथ सिंह ने विदेश दौरा टाल दिया है। इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। रक्षा मंत्री, आर्मी चीफ कश्मीर दौरे पर जा रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हमलावरों को बक्शा नहीं जाएगा। कितना बड़ा है यह हमला?
1# देश में किसी आर्मी कैम्प पर अब तक का सबसे बड़ा हमला
– 8 महीने पहले पठानकोट एयरबेस पर हमला हुआ था। उसमें 7 जवान शहीद हुए थे।
– 16 साल पहले दिल्ली के लाल किले में आर्मी बेस पर हमले में 3 जवान शहीद हुए थे।
– उरी आर्मी बेस पर हमले में 17 जवान शहीद हुए हैं।
– बता दें कि दो साल पहले भी कश्मीर के इसी इलाके में आतंकियों ने आर्मी की बिल्डिंग पर हमला किया था। तब 10 जवान शहीद हुए थे।
2 # कश्मीर में 26 साल में पहली बार किसी आर्मी बेस पर इतना बड़ा हमला
– जम्मू कश्मीर में 1990 से अशांति है। 26 साल में किसी आर्मी बेस पर पहली बार इतना बड़ा आतंकी हमला हुआ है।
– जिस आर्मी कैम्प पर हमला हुआ है, वह एलओसी से सटा है। यह 12 अार्मी यूनिट का बेस है।
– इससे पहले दिसंबर 2014 में उरी सेक्टर में ही झेलम नदी के रास्ते 6 फिदायीन घुसे थे। उन्होंने मोदी के कश्मीर दौरे से 4 दिन पहले इसी कैम्प सहित चार ठिकानों पर हमला किया था। आर्मी के 8 अौर पुलिस के 3 जवान शहीद हुए थे।
– बीते हफ्ते पुंछ में मिनी सेक्रेट्रिएट की एक बिल्डिंग में आतंकी जा छिपे थे। 3 दिन एनकाउंटर चला था।
3# घाटी में 15 साल बाद इतना बड़ा हमला
– अक्टूबर 2001 में जैश-ए-मोहम्मद ने श्रीनगर में जम्मू कश्मीर विधानसभा कॉम्प्लेक्स पर जीप में एक्सप्लोसिव्स के जरिए फिदायीन हमला किया था। इसमें 38 की मौत हुई थी।
कैसे किया हमला?
– आर्मी स्पोक्सपर्सन के मुताबिक, रविवार को सुबह 4 बजे आतंकी LoC से सटे उरी सेक्टर में आर्मी के ब्रिगेड हेडक्वार्टर में घुसे।
– बताया जा रहा है कि चार फिदायीन आतंकी तार काटकर कैंपस में घुसे। इसके बाद धमाके किए।
– फिदायनी हमलावरों ने एडमिनिस्ट्रेटिव बैरक में आग लगा दी।
पीएम ने कहा- हमलावरों को बख्शेंगे नहीं
– पीएम मोदी ने इस हमले की निंदा की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा- “मैंने होम मिनिस्टर और रक्षा मंत्री से बात की है। रक्षा मत्री मनोहर पर्रिकर हालात का जायज लेने के लिए जम्मू-कश्मीर जा रहे हैं।”
– “उरी में हुए हमले की हम निंदा करते हैं। मैं देश को आश्वस्त करता हूं कि इस हमले के पीछे जो भी लोग हैं उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।”
– उधर, सीताराम येचुरी ने कहा- “आतंकवाद कश्मीर मसले का समाधान नहीं है। सभी पक्षों को बातचीत के जरिए इसका समाधान निकालना होगा।”
– लालू प्रसाद यादव नेपीएम मोदी पर निशाना साधा। कहा- “सरकार की लापरवाही की वजह से यह घटना हुई है।”
राजनाथ ने टाला रूस-अमेरिका का दौरा
– कश्मीर में मौजूदा हालात को देखते हुए होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने विदेशी दौरे को टाल दिया है। वे अमेरिका और रूस जाने वाले थे।
– उन्होंने इमरजेंसी मीटिंग की। इसमें एनएसए अजीत डोभाल, होम मिनिस्ट्री के अफसर, IB, RAW के अफसर शामिल हुए।
– होम मिनिस्टर ने हालात को लेकर जम्मू-कश्मीर के गवर्नर और सीएम महबूबा मुफ्ती से बात की।

Leave a Reply