जानिए इस कॉलेज गर्ल ने क्यों काट ली अपनी जीभ, क्या हुआ था इसके साथ

Bhopal
भोपाल/रीवा।मध्य प्रदेश के रीवा जिले में अंधविश्वास का एक मामला सामने आया है। इसमें एक कॉलेज की स्टूडेंट ने सपने की बात को सच मानकर मंदिर में जाकर अपनी जीभ देवी को चढ़ा दी। हालांकि उसने ऐसा करने की जानकारी अपने परिजनों को दी थी, लेकिन वे उसे मजाक समझते रहे। जानें क्या है पूरा मामला…
रीवा के बैकुंठपुर थाने के बगढ़ा स्थित रानी तालाब कालका माता मंदिर में बुधवार एक स्टूडेंट ने अचानक ब्लेड से काटकर अपनी जीभ चढ़ा दी। यह देखकर वहां हड़कम्प की स्थिति मच गई। आरती दुबे पुत्री पारसनाथ(19) जी काटते के बाद बेहोश हो गई। यह देखकर मंदिर के पुजारी देवी प्रसाद शर्मा ने उसके परिजनों को इसकी जानकारी दी। उसके छोटे भाई सचिन दुबे के मुताबिक आरती ने सपने में देवी मां को देखा था और जीभ चढ़ाने की बात कही थी। हालांकि तब तक सभी लोग इसे मजाक समझते रहे।
चलता रहा भजनों का दौर…
चीभ चढ़ाने के बाद वहां मौजूद लोगों ने युवती को लाल चुनरी ओढ़ा दी थी। देवी गीत और भजन शुरू कर दिए थे। दोपहर बाद छात्रा की बेहोशी टूटी। होश में आने के बाद वह देवी मां की परिक्रमा करके हंसते हुए अपने घर चली गई।
बीकॉम की स्टूडेंट है…
आरती दुबे टीआरएस कॉलेज में बीकॉम प्रथम वर्ष की स्टूडेंट है। उसके पिता पेशे से किसान हैं। जबकि पिता का ननिहाल भैरव मार्ग में है। जहां वह रहकर पिछले 4 साल से पढ़ाई कर रही है।
पुलिस हुई सक्रिय..
घटना की जानकारी लगते ही पुलिस और डॉक्टरों की टीम दोपहर में मंदिर पहुंच गई थी।कोतवाली थाना प्रभारी राजेन्द्र मोहन दुबे भी अपने पुलिस बल के साथ मंदिर पहुंचे और स्थिति की जानकारी ली।
इन्होंने कहा
उसने बताया था कि माता देवी सपने में आई हैं। सुबह नहाने के बाद वह मंदिर के लिए निकली थी। देवी मां की महिमा है कि उसकी जीभ ठीक हो गई।
-बृजकली शर्मा, दादी।
लड़की सुबह साढ़े 7 बजे मंदिर पहुंची थी। उसने अपनी जीभ ब्लेड से काटकर चढ़ाई थी। मैं परिसर में ही जप कर रहा था।
-देवी प्रसाद शर्मा, मंदिर के पुजारी।
दो डॉक्टरों का दल मंदिर में पहुंचकर युवती की जांच की है। उसकी स्थिति सामान्य है। इसलिए उसे घर भेज दिया गया।
-डॉ. अनंत मिश्रा, सिविल सर्जन जिला अस्पताल, रीवा।

Leave a Reply