सिंधु, साक्षी, दीपा और जीतू को राष्ट्रपति ने दिया खेल रत्न; कोहली के कोच समेत 6 को मिला द्रोणाचार्य अवॉर्ड

Sports
नई दिल्ली. प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को सिंधु, साक्षी, दीपा और जीतू राय को खेल रत्न अवॉर्ड दिया। 25 साल में पहली बार ऐसा हो रहा है कि एक साथ चार प्लेयर्स को खेल रत्न दिया जा रहा है। इसके अलावा, 15 प्लेयर्स को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। रविवार को पीएम मोदी ने सिंधु, साक्षी, जिमनास्ट दीपा कर्माकर और शूटर जीतू राय से मुलाकात की। इस दौरान पीएम मोदी ने साक्षी से मजाक के लहजे में कहा- मुझे मारना मत। साक्षी ने मोदी को क्या जवाब दिया…
– इन सभी प्लेयर्स ने रविवार को पीएम मोदी से खेल मंत्री विजय गोयल के साथ मुलाकात की।
– एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पीएम से मिलने के बाद साक्षी मलिक ने बताया- “पीएम ने मुझसे कहा, मुझे मारना मत! तब मैंने उनसे कहा कि पहलवान मैट पर काफी अग्रेसिव होते हैं, लेकिन इससे बाहर उनका दिल काफी नरम होता है।”
– “मैं जब रियो में थी, तब यह सब सोचा नहीं था। सबका प्यार मिल रहा है। मैं स्पेशल फील कर रही हूं।”
– पीवी सिंधु ने कहा- “मैंने उन्हें अपना मेडल दिखाया। वे काफी खुश थे। उन्होंने मुझे बधाई दी और कहा कि आप बहुत अच्छा खेलीं।”
– मोदी ने अर्जुन पुरस्कार समेत ध्यानचंद, द्रोणाचार्य, तेनजिंग नोर्गे अवॉर्ड पाने वाले विजेताओं से भी मुलाकात की।
– बता दें कि रविवार को हैदराबाद में साक्षी, सिंधु, दीपा और पुलेला गोपीचंद को सचिन तेंडुलकर ने सम्मानित किया था। इन्हें सभी प्लेयर्स को बीएमडब्ल्यू कारें गिफ्ट की गई थीं।
गाेयल ने गलती से सिंधू-साक्षी को गोल्ड मेडलिस्ट बताया
विजय गोयल ने पीएम से मुलाकात के बाद मीडिया को सिंधु और साक्षी को रियो की गोल्ड मेडलिस्ट बता दिया।
– बाद में उन्होंने सफाई देते हुए कहा- “मैं मेडलिस्ट कहना चाहता था, लेकिन मेरे मुंह से गोल्ड मेडलिस्ट निकल गया। बहरहाल, कौन जानता है कि आने वाले सालों में हम गोल्ड मेडल जीत जाएं। ज़ुबान फिसलने पर लोगों को मुद्दा नहीं बनाना चाहिए, कभी-कभी ऐसा हो जाता है।”
सिंधु, साक्षी और दीपा के अचीवमेंट
# सिंधु ने बैडमिंटन में दिलाया पहला सिल्वर
– सिंधु ने रियो में सिल्वर जीता। 92 साल से भारत ओलिंपिक में महिला एथलीट्स भेज रहा है। लेकिन सिल्वर जीतने वाली वे पहली महिला हैं। बैडमिंटन में भी पहली बार सिल्वर सिंधु ने ही दिलाया है।
# साक्षी ने दिलाया अोलिंपिक में महिलारेसलिंग का पहला मेडल
– साक्षी ने रियो ओलिंपिक का पहला मेडल जीता। उन्होंने रेसलिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीता। महिला रेसलिंग में भारत का किसी भी अोलिंपिक में पहला मेडल है।
# दीपा रहींं 4th पोजिशन पर
– जिमनास्टिक में दीपा 4th पोजिशन पर रही थीं। 1896 से हो रहे ओलिंपिक में पहली बार ऐसा हुआ है कि कोई भारतीय जिमनास्ट फाइनल में पहुंचा।
– बता दें कि दीपा भारत की ओर से ओलिंपिक में जाने वाली पहली महिला जिमनास्ट हैं।
– आजादी के बाद से 11 भारतीय पुरुष जिमनास्ट ओलिंपिक में जा चुके हैं। इससे पहले 1952 में 2, 1956 में 3 और 1964 में 6 भारतीय पुरुष जिमनास्ट ओलिंपिक में गए थे।
– 52 साल बाद दीपा ओलिंपिक के जिमनास्टिक में हिस्सा लेने वाली एथलीट बनी थीं।
# जीतू राय वर्ल्ड
– 29 साल के जीतू राय मैन्स 10 मीटर एयर पिस्टल टूर्नामेंट की वर्ल्ड रैंकिंग में 3rd पोजिशन पर हैं।
– वह रियो के 10 मीटर एयर पिस्टल के फाइनल में जगह बनाने वाले दो इंडियन शूटर में से एक थे, जिसमें से दूसरे अभिनव बिंद्रा थे।
– रियो में 10 मीटर और 50 मीटर पिस्टल शूटिंग इवेंट में शामिल हुए थे।
खेल रत्न के 25 साल के इतिहास में पहली बार चार को अवॉर्ड
– ये अवॉर्ड 1991-92 से राजीव गांधी की स्मृति में दिए जा रहे हैं। उस लिहाज से 25 साल में यह पहला मौका है, जब चार प्लेयर्स को एक साथ ये अवॉर्ड दिया गया है।
– इससे पहले 2009 में एक साथ तीन प्लेयर महिला बॉक्सर मेरी कॉम, बॉक्सर विजेंद्र सिंह और रेसलर सुशील कुमार को दिया गया था।
– वहीं, 2012 में शूटर विजय कुमार और रेसलर योगेश्वर दत्त को दिया गया।
– पहला खेल रत्न विश्वनाथन आनंद को मिला था।

Leave a Reply