चीन में मिलेंगे मोदी-ओबामा, US प्रेसिडेंट के वीडियो में चुनिंदा नेताओं के साथ दिखे PM

International
नई दिल्ली. मोदी-ओबामा के बीच फिर से मुलाकात हो सकती है। 4-5 सितंबर को चीन के हेंगझोऊ में जी-20 समिट है। चीन की सरजमीं पर दोनों नेता उसी न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप पर बात करेंगे, जिसकी मेंबरशिप चीन के अड़ंगे के कारण भारत को नहीं मिल सकी थी। मोदी-ओबामा की यह आठवीं मुलाकात होगी। दोनों के बीच मजबूत केमिस्ट्री है। इसका पता इसी बात से चलता है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के कन्वेंशन में जब ओबामा के अब तक के सफर का वीडियो दिखाया गया तो उसमें नजर आए चुनिंदा नेताओं में से एक मोदी भी थे। ऐसा पहली बार हुआ है कि यूएस प्रेसिडेंट पर बने स्पेशल वीडियो में कोई भारतीय पीएम बन नजर आया है। साउथ ब्लॉक के अफसरों ने क्या कहा…
– अफसरों के मुताबिक, जी-20 समिट में शामिल होने से पहले मोदी-ओबामा के बीच इकोनॉमिक और डिफेंस रिलेशन पर भी चर्चा होगी।
– यह मुलाकात उस वक्त तय हुई थी जब अमेरिका के डिप्टी नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर एडवाले ‘वाली’ अडेयेमो दो दिन की विजिट पर भारत आए थे।
– अडेयेमो ने फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली और पावर मिनिस्टर पीयूष गोयल समेत पीएमओ और विदेश मंत्रालय के कई अफसरों से भी चर्चा की थी।
क्यों खास होगी मोदी-ओबामा की मीटिंग?
1# साउथ चाइना सी
हाल ही में हेग (नीदरलैंड्स) इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन कोर्ट ने साउथ चाइना सी में चीन की बढ़ती दखलअंदाजी को लेकर उसके खिलाफ फैसला सुनाया था। फिलीपींस ने इसको लेकर कोर्ट में अपील की थी। फैसले को लेकर चीन बैकफुट पर है। हालांकि उसने ये भी कहा था कि वह फैसले को नहीं मानता।
2# NSG में भारत की एंट्री
– जून में हुई सिओल प्लेनरी की बैठक में भारत को एनएसजी में एंट्री नहीं मिली थी। चीन समेत कई देशों ने भारत का विरोध किया था।
– अब फिर से मोदी, ओबामा से इस पर बात कर सकते हैं।
वीडियो में नजर आए मोदी
– मोदी, ओबामा के इंट्रोडक्शन देने वाले एक वीडियो में नजर आए हैं। वीडियो को फिलाडेल्फिया में डेमोक्रेट्स के नेशनल कन्वेंशन में दिखाया गया।
– मोदी 2 साल के अपने कार्यकाल में अमेरिका के 4 दौरे कर चुके हैं। वे ओबामा को ‘बराक’ नाम से ही बुलाते हैं।
– मोदी किसी यूएस प्रेसिडेंट के वीडियो में शामिल होने वाले पहले पीएम बन गए हैं।
– 10 मिनट के इस वीडियो में बतौर प्रेसिडेंट ओबामा के 8 साल के सफर को दिखाया गया। इसमें उनका स्ट्रगल, अचीवमेंट्स और चैलेंजेस को शामिल किया गया है।
– वीडियो में ये भी दिखाया गया है कि कैसे ओबामा ने ओसामा बिन लादेन को मारने के ऑपरेशन को लीड किया।
– आठवें मिनट पर जब क्लाइमेट चेंज और दुनिया के नेताओं से ओबामा के रिश्तों का जिक्र आता है तो उसमें मोदी नजर आते हैं।
व्हाइट हाउस ने कहा- मोदी को दोस्त मानते हैं ओबामा
– व्हाइट हाउस के डिप्टी प्रेस सेक्रेटरी एरिक शुल्ट्ज के मुताबिक, ‘भारत सरकार के साथ अमेरिका के करीबी रिश्ते हैं। प्रेसिडेंट ओबामा, मोदी के अच्छे दोस्त हैं। दोनों देश साथ मिलकर कई प्रोजेक्ट कर रहे हैं।’
– शुल्ट्ज ने ये भी कहा, ‘हाल ही में अमेरिका ने भारत के साथ किए समझौते ने ही पेरिस क्लाइमेट चेंज डील का रास्ता बनाया। इसे लेकर प्रेसिडेंट ओबामा, मोदी के आभारी हैं। भारत के साथ हमारे गहरे इकोनॉमिक और सिक्युरिटी रिलेशन हैं।’

Leave a Reply