#Rio: 12 साल बाद हॉकी में जीता भारत, शूटिंग में जीतू, टेनिस में 7 बार के ओलिंपियन पेस हारे; 9 गेम्स में इंडिया पहले राउंड में बाहर

Sports

रियो डि जेनेरियो. ओलिंपिक का पहला दिन भारत के लिए खास नहीं रहा। सिर्फ हॉकी में 12 साल भारत को ओलिंपिक में जीत मिली। इससे पहले इंडियन हॉकी टीम 2004 के ओलिंपिक में जीती थी। भारत ने ओपनिंग मैच तो 16 साल बाद जीता। वहीं, राेइंग में दत्तू भोकानल क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए। भारत को सबसे बड़ा झटका, 7 बार के ओलिंपियन लिएंडर पेस और रोहन बोपन्ना, सानिया मिर्जा और प्रार्थना थोम्बारे के बाहर होने से लगा। रियो ओलिंपिक में भारत के लिए मेडल की सबसे बड़ी उम्मीद जीतू राय 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में बाहर हो गए। 9 इवेंट्स में भारत पहले ही राउंड में बाहर हो गया। कौन जीता-कौन हारा…

भारत को यहां मिली खुशी
1. हॉकी
– भारतीय टीम ने पूल-बी के पहले मैच में आयरलैंड को रोमांचक मुकाबले में 3-2 से हराया। मैच के सभी पांच गोल पेनल्टी कॉर्नर से हुए। टीम अब सोमवार को जर्मनी से भिड़ेगी।
– इससे पहले भारत ने 2000 सिडनी ओलिंपिक में अर्जेंटीना को 3-0 से हराकर ओपनिंग मैच जीता था।
– भारतीय टीम पहले क्वार्टर में पूरी तरह हावी रही। 14 मिनट तक दोनों ही टीमें गोल नहीं कर सकीं। अंतिम एक मिनट में भारत ने बेहद आक्रामक रुख अपनाया और चार कॉर्नर हासिल किए।
– चौथे कॉर्नर पर वीआर रघुनाथ ने गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिली दी। 27वें मिनट में रुपिंदर पाल सिंह ने कॉर्नर पर गोल करके टीम को 2-0 की बढ़त दिला दी।
– 45वें मिनट में जॉन जर्मीन ने गोल कर स्कोर 1-2 कर दिया। चौथे क्वार्टर में टीम ने फिर वापसी की।
– 49वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर रुपिंदर ने अपना दूसरा गोल करके टीम को 3-1 की बढ़त दिला दी। इसके बाद 55वें मिनट में कोनोर हार्टे ने गोल कर स्कोर 2-3 कर दिया।
2. राेइंग : दत्तू भोकानल क्वार्टर फाइनल में
– भारत के इकलौते रोवर दत्तू भोकानल ने सिंगल स्कल स्पर्धा में क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालिफाई कर लिया।
– दत्तू ने लागोआ स्टेडियम में हीट-1 में छह रोवरों के बीच तीसरा स्थान हासिल किया। उन्होंने 2000 मीटर की दूरी 7 मिनट 21.67 सेकंड और 500 मीटर की दूरी 1.44.66 मिनट में तय की।
इन 9 गेम्स में भारत बाहर
1. पेस-बोपन्ना पहले राउंड में ही बाहर
– रिकॉर्ड सातवां ओलिंपिक खेलने उतरे 8 ग्रैंड स्लैम विनर लिएंडर पेस (42) का एक और ओलिंपिक मेडल जीतने का सपना टूट गया।
– ओलिंपिक में मेन्स डबल्स का मुकाबला खेलने उतरी पेस और रोहन बोपन्ना की जोड़ी पहले ही राउंड में हारकर बाहर हो गई।
– पोलैंड के लुकास कुबोत और मार्सिन मत्कोवस्की की जोड़ी ने पेस और बोपन्ना की जोड़ी को 6-4,7-6 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई।
विवाद पड़ा भारी: रियो ओलिंपिक से पहले बोपन्ना ने पेस के साथ खेलने से इनकार करते हुए साकेत मेयनेनी को डबल्स के लिए पार्टनर चुना था। बाद में ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन के कहने पर बोपन्ना पेस के साथ खेलने को राजी हुए। इस कॉन्ट्रोवर्सी का असर दोनों की जोड़ी के परफॉर्मेंस पर दिखा।
2. जीतू राय बाहर
रियो ओलिंपिक में भारत के लिए मेडल की सबसे बड़ी उम्मीद जीतू राय अपने पहले ही इवेंट के फाइनल में पहुंचे, लेकिन आठ निशानेबाजों में सबसे पहले बाहर हुए। फाइनल में उनका स्कोर 78.7 रहा। जीतू ने इससे पहले 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में 580 के स्कोर के साथ छठे स्थान पर रहते हुए मेडल राउंड के लिए क्वालिफाई किया। भारतीय शूटर गुरप्रीत सिंह 576 के स्कोर के साथ 20वें स्थान पर रहे। बता दें कि जीतू ने दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीता था।
उम्मीद बाकी:हालांकि अभी 50 मीटर एयर पिस्टल में जीतू से अभी मेडल की उम्मीद है।
3. सानिया-प्रार्थना भी हारीं
सानिया मिर्जा और प्रार्थना थोंबरे की जोड़ी वुमन्स डबल्स में हार गई। उन्हें चीन की पेंग-झांग ने पहले ही दौर में 6-7, 7-5, 5-7 से हरा दिया। ये मैच दो घंटे 44 मिनट चला। लेकिन कड़ी टक्कर देने के बाद भी भारतीय जोड़ी को कामयाबी नहीं मिल सकी।
4. वेटलिफ्टिंग : चानू की हार
साईखोन मीराबाई चानू ने फर्स्ट अटैंप्ट में 82 किलोग्राम लिफ्ट की कोशिश की। लेकिन वे नाकाम रहीं। क्लीन एंड जर्क इवेंट में वो 104 किलोग्राम नहीं उठा सकीं। चानू वुमन कैटेगरी के 48kg वेटिलिफ्टिंग ग्रुप में हैं।
5. टेबिल टेनिस में भी मायूसी
भारत के टॉप रैंक्ड सौम्यजीत घोष थाईलैंड के पाडासेक से 4-1 से मैच हार गए। पहले गेम में वो 11-8 से हारे। हालांकि दूसरा गेम टाइ रहा। घोष मैच में काफी पिछड़ते गए थे।
6. शरत कम भी हारे
टेबिल टेनिस में ही भारत के शरत कमल भी नहीं जीत सके। 38 मिनट चले मैच में उन्हें रोमानिया के एड्रियन क्रिसान ने 8-11, 12-14, 11-9, 6-11, 8-11 से हराया।
7. टेबल टेनिस में हारीं मौमा
– टेबल टेनिस में ही भारत की मौमा दास पहले ही राउंड में हारकर बाहर हो गईं।
– मौमा दास को रोमानिया की डेनियला मोंटिरो ने एकतरफा अंदाज में 19 मिनट में 11-2, 11-7, 11-7, 11-3 से हराया।
– भारत की सबसे एक्सपीरियंस्ड प्लयेर मौमा दास पूरे मैच में एक बार भी मोंटिरो को टक्कर नहीं दे सकीं।
8# मणिका बत्रा बाहर
– टेबल टेनिस में पौलेंड की करतजाइना गिर्जीबोवस्का ने मणिका बत्रा को 4-2, 10-12, 11-6, 14-12, 8-11, 11-4, 14-12 से हराकर उनका सफर खत्म कर दिया।
9# शूटिंग में कुछ बेहतर नहीं
– रियो ओलिंपिक में भारतीय निशानेबाजों की शुरुआत बेहद निराशाजनक रही। महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में भारत की अपूर्वी चंदेला और अयोनिका पॉल फाइनल में जगह बनाना तो दूर टॉप-30 में भी नहीं आ सकीं।
– अपूर्वी क्वालिफिकेशन की चार राउंड की शूटिंग में 411.6 अंक के साथ 34वें स्थान पर रहीं। वहीं, अयोनिका 403 अंक बनाकर 53 शूटरों में 47वें स्थान पर रहीं।
– बता दें कि अपूर्वी चंदेला और अयोनिका पॉल ने 2014 के कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था।

Leave a Reply