फिर बदल रहा है हमारा सर्विस टैक्स, 1 जून से ‘दो जून की रोटी’ हो जाएगी महंगी

Business
नई दिल्ली. बचपन से एक कहावत सुनते आए हैं- दो जून की रोटी मिल जाए, यही बहुत है। दो जून यानी सुबह-शाम की रोटी। लेकिन 1 जून से हमारी यही दो जून की रोटी महंगी हो रही है। इस दिन से सभी सेवाओं पर आधा फीसदी कृषि कल्याण सेस लागू हो रहा है। इससे सर्विस टैक्स 14.5% से बढ़कर 15% हो जाएगा।
service-tax_1464656162
– सर्विस टैक्स बढ़ने से मोबाइल, डीटीएच, बिजली, पानी आदि के बिल, रेस्टोरेंट में खाना, रेल-हवाई टिकट, बैंकिंग, बीमा आदि सेवाएं महंगी हो जाएंगी।
– बता दें कि मोदी सरकार ने बजट के दौरान 0.50% कृषि कल्याण सेस लाने का एलान किया था। इसके जरिए वो कृषि और किसानों की स्कीम्स के लिए 5 हजार करोड़ रुपए जुटाना चाहती है।
‘प्रधान सेवक’ की हर ‘सर्विस’ महंगी
– शादी-ब्याह महंगे होंगे। बैंक ड्राफ्ट, फंड ट्रांसफर, एसएमएस अलर्ट, फिल्म देखना, पॉर्लर सर्विस, स्पा, सैलून जैसी सेवाएं महंगी हो जाएंगी।
– एक्सपर्ट्स का कहना है कि सर्विस टैक्स 18% तक संभव है। जीएसटी की संभावित दर के करीब आ सकती है।
– 0.5% कृषि कल्याण सेस होगा लागू, सर्विस टैक्स 14.5 से बढ़कर 15% हो जाएगा।
सिर्फ 1 साल में 2.64% बढ़ गया सर्विस टैक्स
– 1 साल में तमाम सेस से 1.16 लाख करोड़ रुपए कमा लेती है सरकार।
– 2015 के बजट में 12.36 से 14% किया, नवंबर में 0.50% स्वच्छ भारत सेस लगाया। सर्विस टैक्स 14.5% हो गया। अब 0.50% कृषि कल्याण सेस।
– सालाना 25% की दर से बढ़ रहा सर्विस टैक्स कलेक्शन। सरकार ने जताया था 2015-16 में 2.1 लाख करोड़ रुपए कलेक्शन का अनुमान।
– हर साल तरह-तरह के सेस से 1.16 लाख करोड़ कमाई। पिछले साल पेट्रोल-डीजल पर 21,054 करोड़ मिले।
इधर कुछ नए टैक्स
– कार पर 1% लग्जरी टैक्स 1 जून से। 10 लाख से ज्यादा की कार पर 1% लग्जरी टैक्स।
– कैश खरीदी पर 1% टीसीएस 1 जून से। दो लाख से अधिक कीमत का माल या सेवा की नकद खरीद पर संबंधित व्यापारी आपसे बिल अमाउंट पर 1% टैक्स कलेक्टेड एट सोर्स (टीसीएस) जमा करवाएगा।
अच्छी खबर भी : डेबिट/क्रेडिट कार्ड से टिकट बुकिंग पर 30 रु. का सर्विस चार्ज अब नहीं। अब 50 हजार तक की पीएफ निकासी पर कोई टैक्स नहीं।

Leave a Reply