जस्‍टि‍स डीबी भोसले होंगे इलाहाबाद हाईकोर्ट के नए चीफ जस्‍टि‍स

High Court
इलाहाबाद. जस्‍टि‍स दि‍लीप बाबासाहब भोसले (डीबी भोसले) इलाहाबाद हाईकोर्ट के नए चीफ जस्‍टि‍स होंगे। वे जस्‍टि‍स डीवाई चंद्रचूड़ का स्‍थान लेंगे। उन्‍हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनने के बाद से वहां जस्‍टि‍स वीके शुक्‍ला एक्‍टि‍ंग चीफ जस्‍टि‍स के रूप में यह जि‍म्‍मेदारी संभाल रहे थे। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट कोलेजि‍यम की सि‍फारि‍श पर इस पद के लि‍ए जस्‍टि‍स डीबी भोसले के नाम पर मुहर लगा दी। वे इस समय आंध्र प्रदेश और तेलंगाना हाईकोर्ट के एक्‍टि‍ंग चीफ जस्‍टि‍स थे। जस्‍टि‍स डीबी भोसले का परि‍चय…
– वे महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री बाबासाहब भोसले के बेटे हैं।
– उन्‍होंने अपना करि‍यर जून 1979 में बंबई हाईकोर्ट में बतौर एडवोकेट शुरू कि‍या था।
– 22 जनवरी 2001 को महाराष्‍ट्र हाईकोर्ट में उन्‍हें अति‍रि‍क्‍त न्‍यायाधीश अप्‍वाइंट कि‍या गया।
– देश के कि‍सी भी स्‍टेट बार कांउसि‍ल में सबसे कम उम्र का सदस्‍य होने का उन्‍हें गौरव हासि‍ल है।
इलाहाबाद के पूर्व चीफ जस्‍टि‍स रहे डीवाई चंद्रचूड़ का परि‍चय
– जस्टिस चंद्रचूड़ को 13 अक्टूबर 2013 को इलाहाबाद हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाया गया था।
– उनके पिता वाईवी चंद्रचूड़ सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे।
– उन्‍हें इलाहाबाद हाईकोर्ट में पहली ई-कोर्ट शुरु करने का श्रेय जाता है।
– उनकी अगुवाई में इलाहाबाद हाईकोर्ट का डिजिटलाइजेशन शुरू हुआ था।
– लोअर कोर्ट की सुरक्षा की मॉनीटरिंग शुरू कराई।
– न्यायिक अनुशासन के तहत 11 ट्रेनी जज बर्खास्त किए।
– हाईकोर्ट में आए दिन वकीलों की हड़ताल भी रुकवाई।
जस्टिस चंद्रचूड़ के अहम फैसले
– जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने अपने कार्यकाल में कई अहम फैसले दिए।
– उन्होंने फैसला दिया कि राज्यपाल की नियुक्ति में मुख्यमंत्री से परामर्श जरूरी नहीं है।
– उनके फैसले के बाद मदरसों में तिरंगा फहराया जाने लगा।
– विवाहित पुत्री को भी मृतक आश्रित कोटे में नियुक्ति का अधिकार दिया।
– यूपी में शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द करने का अहम फैसला सुनाया।
– लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अनिल यादव की नियुक्ति अवैध घोषित की।
– निठारी कांड के मुख्य अभियुक्त सुरेंद्र कोली की फांसी को उम्रकैद में बदला।
– फैसला दिया कि गंगा नदी में पांच सौ मीटर के दायरे में कोई निर्माण नहीं होगा।
– राशन कार्ड के लिए ‘आधार’ कार्ड को गैरजरूरी बताया।
– गर्मियों में भी हाईकोर्ट में कामकाज के लिए पहल की।

Leave a Reply