UN में PAK ने उठाया कश्मीर का मुद्दा, भारत ने कहा- टेरर आपकी स्टेट पॉलिसी

National
नई दिल्ली. भारत ने आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर का मुद्दा यूएन में उठाने पर पाकिस्तान को लताड़ लगाई है। भारत ने यूएन में कहा कि आतंकवाद पाकिस्तान की स्टेट पॉलिसी का हिस्सा है। वो आतंकवादियों का गुणगान कर रहा है। पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए भारत ने कहा कि पाकिस्तान दूसरे देश के लोगों को देश के खिलाफ भड़का रहा है। पाक ने यूएन में आतंकी को बताया लीडर…
– बुधवार को 193 मेंबर्स की यूएन जनरल असेंबली में ह्यूमन राइट्स पर बहस के दौरान पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दा उठाया।
– यूएन में पाकिस्तान की हाईकमिश्नर मलीहा लोधी ने आतंकी बुरहान वानी को कश्मीर का लीडर बताया।
– लोधी ने बुरहान के एनकाउंटर को एक्स्ट्रा ज्यूडिशियल किलिंग बताते हुए कहा कि इंडियन आर्मी ने उसे मार डाला।
– पाकिस्तान के आरोपों पर यूएन में भारत के हाईकमिश्नर सैयद अकबरुद्दीन ने कड़ी प्रतिक्रिया दी।
– उन्होंने कहा, ”पाकिस्तान अपना ट्रैक रिकॉर्ड देखे। वो इंटरनेशनल कम्युनिटी को भरोसे में लेने में नाकाम रहा है।”
– ”पाकिस्तान हमेशा गलत नीयत से शर्मनाक कोशिश करता है। जैसा उनसे बुधवार सुबह किया।”
PAK हाई कमिश्नर को भारत भेज सकता है समन
आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर के सिलसिले में भारत पाक हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को समन भेज सकता है।
– इसमें बासित से हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान के कई आतंकी हमलों में शामिल होने के सबूत मांगे जा सकते हैं।
– सूत्रों की मानें तो बुरहान की मौत के वक्त उस पर 12 FIR दर्ज थीं, जिन पर कार्रवाई होना बाकी है।
– जम्मू-कश्मीर पुलिस ने होम मिनिस्ट्री को ये डिटेल सौंप दी है।
– होम मिनिस्ट्री ये डिटेल फॉरेन मिनिस्ट्री को देगी। इस आधार पर बासित को समन दिया जा सकता है।
– बासित से आतंकी हमलों में शामिल होने को लेकर पूछताछ हो सकती है।
वानी पर ये आरोप
– वानी पर पुलिस के हथियार चुराने, फायरिंग, पंच-सरपंच और उनके फैमिली मेंबर्स को मारने के साथ पुलिस पार्टी पर हमला करने के आरोप हैं।
– साथ ही, वह त्राल में राष्ट्रीय राइफल की पैट्रोल पार्टी पर भी हमला करने का आरोपी है।
– एक इंटेलिजेंस अफसर के मुताबिक, वह एकमात्र ऑनलाइन आतंकी था।
– आतंकी एक्टिविटीज के लिए वह सोशल मीडिया का जमकर यूज करता था। आतंकियों की भर्ती करता था और उन्हें पुलिस वेपन्स की लूट के लिए उकसाता था।
– साथ ही, वह कश्मीरी पंडितों पर हमले की धमकी देता था और कश्मीर में खिलाफत लाना चाहता था।
नवाज ने बुलाई स्पेशल कैबिनेट मीटिंग
– बुरहान की मौत के बाद कश्मीर के हालात पर चर्चा करने के लिए नवाज शरीफ ने शुक्रवार को कैबिनेट की स्पेशल मीटिंग बुलाई है।
– पाक पीएमओ के सूत्रों के मुताबिक, मीटिंग में भारतीय सिक्युरिटी फोर्सेस के हाथों मारे जा रहे सिविलियन्स की मौत और आगे की एक्शन पर चर्चा होगी।
– ये स्पेशल मीटिंग लाहौर के गवर्नर हाउस में होगी।
– इस बीच, पाकिस्तान में भारतीय हाई कमिश्नर गौतम बम्बावले को उसने समन दिया और उनसे कश्मीर के हालातों पर जानकारी ली गई।
– बम्बावले को समन भेजने से दोनों देशों का माहौल गरमा गया था।
क्या हैं कश्मीर के हालात?
– आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर में हालात तनावपूर्ण हैं। कई जिलों में कर्फ्यू अभी भी जारी है।
– हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा 36 तक पहुंच गया है। घायलों की संख्या 1600 से ज्यादा है।
– सिक्युरिटी फोर्सेस और प्रदर्शनकारियों के बीच अब तक 500 से ज्यादा बार झड़प हो चुकी है।
– नरेंद्र मोदी कश्मीर के हालात पर दिल्ली में हाई लेवल मीटिंग कर चुके हैं।
– राजनाथ सिंह ने भी कश्मीर के हालात को देखते हुए अपना अमेरिका दौरा कैंसल कर दिया था। उन्हें 17 जुलाई को यूएस जाना था।
तनाव के बीच अमरनाथ यात्रा जारी
– फिलहाल अमरनाथ यात्रा जारी है।
– पुलवामा में भीड़ ने एयरफोर्स के एयरपोर्ट पर पथराव कर आग लगाने की कोशिश की।
– डूरू में कोर्ट की बिल्डिंग फूंक दी। सोपोर तथा फ्रूट मंडी लित्तर में पुलिस चौकियां जला दी थीं।
– लदयार और त्राल में सीआरपीएफ कैम्प और शनिवार को अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों के भंडारे पर हमला हुआ।
– कर्फ्यू के चलते जनजीवन पर खासा असर रहा। हालात पर काबू करने के लिए सीआरपीएफ के 800 और जवान भेजे गए हैं।
भारत ने पाक से कहा था- हमारे मामलों में दखल न दें, पहले पीओके संभालें
– नवाज शरीफ ने कहा था कि बुरहान की मौत से वे सदमे में हैं। उन्होंने वानी के एनकाउंटर को ‘एक्स्ट्रा ज्यूडिशियल किलिंग’ बताया। साथ ही, प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई को ‘ज्यादा और गैरकानूनी बल प्रयोग’ करार दिया।
– इस पर होम मिनिस्टर ऑफ स्टेट किरण रिजिजू ने कहा, ”पाकिस्तान अपने देश में हो रहे ह्यूमन राइट्स वॉयलेशन की फिक्र करे। हमारे अंदरूनी मामलों में दखल न दे।”
– वहीं, विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ”हमने भारत के राज्य जम्मू-कश्मीर के हालात पर पाकिस्तान के बयान देखे हैं। ये बताते हैं कि पाकिस्तान का आतंकवाद से जुड़ाव जारी है और वह स्टेट पॉलिसी के तौर पर इसका इस्तेमाल करता है। हम पाक को सलाह देते हैं कि वो अपने पड़ोसियों के अंदरूनी मामलों में दखल देने से बचे।”
– वहीं, मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने पाक के कब्जे वाले कश्मीर में वानी के सपोर्ट में रैली की। उसके साथ हिजबुल मुजाहिदीन का चीफ सैयद सलाहुद्दीन भी था।

Leave a Reply