ऑल पार्टी मीट: GST पर मोदी बोले-देश हित ऊपर रखें, कांग्रेस ने कहा-मेरिट देखेंगे

National
नई दिल्ली. पार्लियामेंट के मानसून सेशन से पहले रविवार को ऑल पार्टी मीटिंग हुई। इसमें नरेंद्र मोदी ने अपोजिशन से जीएसटी बिल पास कराने में मदद करने की अपील की। उन्होंने कहा- “देश हित को बाकी चीजों से ऊपर रखें।” वहीं, कांग्रेस लीडर गुलाम नबी आजाद बोले- “कांग्रेस विधेयकों को पास कराने में रोड़ा नहीं डालेगी, मेरिट के आधार पर ही उनका सपोर्ट करेगी।” बता दें कि मानसून सेशन सोमवार से शुरू हो रहा है और मोदी सरकार इस दौरान जीएसटी समेत कई पेंडिंग बिल पास कराना चाहती है। पीएम मोदी ने और क्या कहा…

– ऑल पार्टी मीटिंग लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तरफ से बुलाई गई।
– मीटिंग में पीएम मोदी ने कहा- “जीएसटी देश के महत्व का मुद्दा है। इश्यू ये नहीं है कि किस सरकार को इसका क्रेडिट मिलेगा। महत्वपूर्ण ये है कि मानसून सेशन में जीएसटी समेत सभी जरूरी बिल पेश किए जाएं और उन पर अर्थपूर्ण चर्चा हो और नतीजे सामने आएं।”
– “हम सभी जनता और दलों को रिप्रेजेंट करते हैं, इसलिए देश हित को बाकी चीजों से ऊपर रखें।”
– सूत्रों के मुताबिक मोदी ने कश्मीर मुद्दे पर एक सुर में बोलने पर सभी पार्टियों को थैंक्स भी कहा।
– मीटिंग में सपा नेता नरेश अग्रवाल ने जीएसटी बिल पर सरकार का समर्थन करने की बात कही।
– सीनियर बीजेपी लीडर वेंकैया नायडू ने कहा- “ज्यादातर राज्य जीएसटी बिल के फेवर में हैं, किसी भी पार्टी ने इसका विरोध नहीं किया है, हमें यकीन है कि यह बिल पास होगा।”
– महाजन ने मीटिंग में सभी पार्टियों से संसद को चलाने में सहयोग की अपील की। सेशन 12 अगस्त तक चलेगा।
– मीटिंग में संजय राउत, डी राजा, सतीश चंद्र मिश्रा, डीपी त्रिपाठी, चिराग पासवान, सीताराम येचुरी और अन्य ने हिस्सा लिया।
– अरुण जेटली, अनंत कुमार, राजनाथ सिंह, एमए नकवी, जीएन आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मीटिंग में मौजूद थे।

16 बिल लाएगी सरकार

– संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने कहा, “कांग्रेस ने मेरिट के आधार पर विधेयकों का सपोर्ट करने का भरोसा दिलाया है। इस सेशन में सरकार 16 विधेयक पेश करेगी।”
– “ऑल पार्टी मीटिंग में सभी दलों ने जीएसटी बिल पर चर्चा की। हमने इस पर सहमति बनाने की कोशिश की है।”
– वेंकैया नायडू ने कहा- “जीएसटी बिल को बहुमत के बजाए सर्वसम्मति से पास किया जाना चाहिए। अगर यह सहमति से पास हुआ तो यह देश के लिए अच्छा होगा।”
कांग्रेस का क्या कहना है?
– राज्यसभा में अपोजिशन के लीडर गुलाम नबी आजाद ने कहा- “कांग्रेस देश, जन और विकास हित में किसी भी बिल का समर्थन करेगी।”
– ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- “हम जीएसटी पर सरकार की तरफ से एक कॉन्क्रीट ड्राफ्ट प्रपोजल चाहते हैं। हम देखेंगे कि 3 विवादित मुद्दों पर उनका (सरकार) क्या कहना है।”
– इससे पहले शनिवार को सोनिया और राहुल ने पार्टी नेताओं के साथ मीटिंग कर जीएसटी समेत बाकी अहम मुद्दों पर कांग्रेस की स्ट्रैटजी तैयार की।
– मीटिंग में आजाद, सिंधिया और आनंद शर्मा के अलावा बाकी सीनियर लीडर्स ने हिस्सा लिया था।
जेटली ने की विपक्ष के नेताओं से बातचीत
– फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली की गुरुवार को कांग्रेस लीडर गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा से बातचीत हुई।
– इस मुलाकात के बाद से सरकार को उम्मीद है कि जीएसटी बिल इस सेशन में पास हो जाएगा।
– बता दें कि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) बिल लोकसभा से पास हो चुका है लेकिन अब तक कांग्रेस के कड़े विरोध के चलते यह राज्यसभा में अटका हुआ है।
ये हैं अहम बिल
– सरकार की योजना 18 जुलाई से शुरू होने वाले मानसून सेशन में जीएसटी बिल को राज्यसभा में कॉन्स्टिट्यूशन अमेंडमेंट के लिए रखने की है।
– अन्य अहम बिल्स में कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल 2015, बेनामी ट्रांजैक्शन (प्रॉहिबिशन) अमेंडमेंट बिल 2015, लोक पाल एंड लोकायुक्त और अदर रिलेटेड लॉ (अमेंडमेंट बिल) शामिल हैं।
– दूसरी ओर, विपक्ष ने मानसून सेशन में अरुणाचल, एनएसजी और कश्मीर हिंसा के मुद्दे पर सरकार को घेरने की योजना बनाई है।

Leave a Reply