वकीलों की विधवाओं को बार ने दिया 44 लाख का चेक, 5 साल तक मिलेगा पेंशन

High Court
इलाहाबाद. इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने गुरुवार को अपने बार के मृत वकीलों की 22 विधवाओं को 44 लाख रुपए का अलग-अलग चेक दिया। यह चेक बार एसोसिएशन के ‘डेथक्लेम’ योजना के तहत अध्यक्ष आरके ओझा और सचिव अशोक कुमार सिंह ने दी। बार एसोसिएशन के मृत वकीलों के आश्रितों में उनकी विधवा पत्नी और बच्चों ने बार एसोसिएशन में आकर चेक प्राप्त किया। क्‍या बोले बार एसोसिएशन के अध्यक्ष…
बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आरके ओझा ने कहा कि बार का यह कहना है कि कोई भी वकील पैसे के अभाव में चिकित्सीय सुविधा से वंचित न रहे। यही नहीं यदि किसी कारण से वकील की मौत हो जाती है तो बार एसोसिएशन अपनी योजना के अनुसार मृतक वकील को आर्थिक सहायता देगी।
काफी संख्‍या में पहुंचे थे वकीलों के आश्र‍ित
हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के स्टडी रूम में काफी संख्या में मृतक वकीलों के आश्रित पहुंचे थे। इनमें कुछ के बच्चे और कुछ की विधवा पत्नियां थी। इन सभी आश्रितों को चेक बार के पदाधिकारियों ने दिया। चेकों का वितरण करते समय सचिव अशोक सिंह ने कहा कि उनके कार्यकाल में हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने इस प्रकार की योजना का शुभारंभ किया, जो वकीलों व उनके आश्रितों के हित में लागू की है। इस योजना का सभी वकीलों को लाभ मिल रहा है। सचिव प्रेस जर्नादन यादव ने बताया कि बार एसोसिएशन ने मृत वकीलों की विधवाओं को मृत्यु की डेट से पांच वर्ष तक एक हजार रुपया विधवा पेंशन देने का भी निर्णय लिया है।

Leave a Reply