US प्रेसिडेंशियल इलेक्शन: माइक्रोसॉफ्ट, एप्पल नहीं दे रहीं ट्रम्प को चंदा

International
सैन फ्रांसिस्को. यूएस प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में रिपब्लिकंस की ओर से कैंडिडेट की दौड़ में भले ही डोनाल्ड ट्रम्प आगे चल रहे हों लेकिन चुनावी खर्च को लेकर उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। माइक्रोसॉफ्ट, एप्पल जैसी दिग्गज कंपनियों ने कहा है कि वे रिपब्लिकंस के कन्वेंशन में चंदा नहीं देंगी। बता दें कि अगले कुछ दिनों में क्लीवलैंड में रिपब्लिकन पार्टी का नेशनल कन्वेंशन होना है। इसी में ट्रम्प के प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट का एलान हो सकता है। कई कंपनियां नहीं कर रहीं फाइनेंशियल सपोर्ट…
– सबसे ताजा मामला एप्पल का है जिसने कहा है कि न तो वह रिपब्लिकंस को चंदा देगी और न ही किसी प्रॉडक्ट की मदद दी जाएगी।
– इसी तरह एचपी इंक ने भी फाइनेंशियल सपोर्ट देने की बात को होल्ड पर रखा है। जबकि माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है कि वह प्रॉडक्ट्स तो दे सकती है, लेकिन चंदा नहीं।
– टेक्नोलॉजी जाइंट्स के अलावा फोर्ड, जेपी मॉर्गन और यूनाइटेड पार्सल सर्विस जैसी कंपनियों ने भी रिपब्लिकंस को सपोर्ट की बात टाल दी है।
– हालांकि कई कंपनियों ने डेमोक्रेट्स के कन्वेंशन में भी किसी भी तरह के डोनेशन से इनकार किया है।
– इससे पहले के इलेक्शंस में रिपब्लिकंस को डेमोक्रेट्स की तुलना कहीं ज्यादा डोनेशन मिला था।
मदद न देने की वजह नहीं बताई
– कंपनियां, रिपब्लिकंस को डोनेशन क्यों नहीं दे रही हैं, इसकी वजह का पता नहीं चल पाया है।
– किसी भी कंपनी ने इस बारे में पब्लिकली कोई बयान नहीं दिया है।
– कइयों ने ये कहकर पल्ला झाड़ा कि वो प्लान के बारे में आगे सोचेंगे।
– इससे पहले कई सिविल राइट्स ग्रुप्स ने भी कंपनियों के पॉलिटिकल पार्टीज को दिए जाने वाले चंदे को लेकर कैम्पेन चलाया था।
क्या कहते हैं एक्सपर्ट?
– यूनिवर्सिटी ऑफ वर्जीनिया के पॉलिटिकल साइंटिस्ट लैरी सबाटो के मुताबिक, ‘ये सबकुछ ट्रम्प के चलते ही हो रहा है।’
– सबाटो पिछले 30 साल से पार्टी कन्वेंशंस पर नजर रख रहे हैं।
– सबाटो की मानें तो ऐसे किसी कैंडिडेट को वोट ही नहीं मिलेंगे जो लोगों की बेइज्जती करता हो।
– ‘कंपनियां भी ऐसे किसी शख्स से बिजनेस नहीं करना चाहेंगी जो उनकी इंसल्ट करे।’
क्या कहते हैं रिपब्लिकन कन्वेंशन ऑर्गनाइजर्स?
– एक ऑर्गनाइजर एमिली लॉएर की मानें तो 5 करोड़ 75 लाख डॉलर (करीब 386 करोड़ रुपए) जमा हो चुके हैं जो कुल रकम का 90 फीसदी है।
– हालांकि एमिली ने स्पॉन्सर्स की लिस्ट बताने से इनकार कर दिया।

Leave a Reply