आज से होगा कई बदलाव, मोबाइल और होटल में खाना होगा महंगा

Uncategorized

नई दिल्ली।1 जून से सर्विस टैक्स, रेलवे, बैंकिग से लेकर ब्लैकमनी तक के नियमों में बदलाव होने जा रहे हैं। आपको हर सर्विस पर 14.5 जगह 15% सर्विस टैक्स देना होगा। इन्श्योरेंस पॉलिसी लेना महंगा हो जाएगा। बैंकिंग सर्विसेस महंगी हो जाएंगी। वहीं, किसान कल्याण सेस लगने के चलते बिजली-मोबाइल का खर्च बढ़ जाएगा। हालांकि, रेलवे की ओर से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है।

सर्विस टैक्स बढ़ने से इन पर पड़ेगा असर

बैंकिंग सर्विस के लिए आपको पहले से ज्यादा सर्विस टैक्स चुकाना होगा। बैंक ड्राफ्ट, फंड ट्रांसफर के लिएआईएमपीएस,एसएमएस अलर्ट जैसी सर्विस के लिए पहले से ज्यादा पैसे चुकाने पड़ेंगे। फिल्म देखने के लिए, एयर टिकट पर 15% सर्विस टैक्स चुकाना होगा।सर्विस टैक्स बढ़ने से रेस्त्रां, माल ढुलाई, पंडाल, इवेंट, कैटरिंग, आईटी, स्पा-सैलून, होटल, बैंकिंग जैसी सेवाएं महंगी हो जाएंगी। अगर आप नई कार, घर, हेल्थ पॉलिसी ले रहे हैं या उसे रीन्यू करा रहे हैं, तो आपको भी आपको बढ़ा हुआ सर्विस टैक्स देना पड़ेगा।।

घूमने जाना भी होगा महंगा

यदि आप टूर ऑपरेटर और कंपनियों से टूर पैकेज लेकर देश या विदेश घूमने जाते हैं, तो आपको बढ़ा हुआ सर्विस टैक्स देना होगा। देश में होटल सर्विस लेने पर 15% सर्विस टैक्स देना होगा।

शादी के लिए वेडिंग प्लानर की सर्विस लेने पर भी 15% सर्विस टैक्स देना पड़ेगा।

बैंक्वेट हॉल, केटरिंग और होटल जैसी तमाम चीजों पर सर्विस टैक्स देना होगा। जाहिर है कि ऐसे में शादी का बजट बढ़ जाएगा।

किसान कल्याण सेस से इन पर पड़ेगा असर

सरकार के सर्विस टैक्स में 0.5 फीसदी किसान कल्याण सेस लगाने से बिजली और मोबाइल का खर्च बढ़ जाएगा। डेबिट-क्रेडिट कार्ड से टिकट लेने पर नहीं लगेगा ट्रांजैक्शन चार्ज अगर रेलवे काउंटर से डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के जरिए टिकट खरीदते हैं तो इस पर लगने वाला ट्रांजैक्शन चार्ज 1 जून से नहीं लगेगा। माना जा रहा है इस सुविधा के चलते डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से टिकट लेने वालों की संख्या बढ़ेगी। रेलवे का कहना है कि इससे सीधे तौर पर रेलवे को भी फायदा होगा।

लोगों को क्या होगा फायदा

पीएफ निकासी पर टीडीएस नहीं:

भविष्य निधि खाते (पीएफ) से 50 हजार तक की राशि निकालने पर अब टीडीएस (टैक्स डिडक्शन एट सोर्स) नहीं कटेगा।

रेल टिकट बुकिंग पर सर्विस चार्ज नहीं:

डेबिट या क्रेडिट कार्ड से रेलवे टिकट बुक कराने पर यात्रियों को 30 रुपये का सेवा शुल्क चुकाना पड़ता था। इससे अब मुक्ति मिल जाएगी।

सोना खरीदारी पर:

सोने के आभूषणों की बिक्री बढ़ाने के लिए सरकार ने एक और पहल की है। टैक्स कलेक्शन एट सोर्स, यानी टीसीएस अब पांच लाख से ज्यादा की नकद में खरीद पर देय होगा। पहले यह सीमा दो लाख थी।

जानिए क्या होगा नुकसान:

महंगी होंगी सेवाएं:

बुधवार से सभी सेवाओं पर आधा फीसद कृषि सेस लागू हो जाएगा। इससे मोबाइल, डीटीएच, बिजली पानी के बिल, होटल में खाना, रेल-हवाई टिकट, बैंकिंग, बीमा जैसी सेवाएं महंगी होगी।

कार खरीदारी पड़ेगी भारी:

दस लाख से अधिक कीमत की कार खरीद पर चुकाना पड़ेगा एक फीसद कर। यह एक्स-शो रूम कीमत पर लागू होगा। कार विक्रेता को इसका भुगतान करना होगा।

टीसीएस का बोझ:

दो लाख रुपये से अधिक के माल या सेवाओं की बिक्री की स्थिति में आयकर विभाग को सूचित करना होगा। संबंधित व्यापारी पर एक फीसद का टैक्स टीसीएस लगाया जाएगा।

गूगल टैक्स भी:

फेसबुक, गूगल, ट्विटर जैसी साइट्स पर विज्ञापन देने वाली कंपनियों को गूगल टैक्स चुकाना होगा। इस टैक्स को इक्वलाइजेशन लेवी का नाम दिया गया है। ऑनलाइन विज्ञापन के लिए भुगतान की गई राशि पर छह फीसद की दर से यह लगेगा।

Leave a Reply